शुक्रवार, 10 अगस्त 2012

बालगीत : लैपटॉप की बीमारी


लैपटॉप ये पापा का
बहुत बुरा मुझको लगता
जाकर उनकी गोदी में
दिन दिन भर बैठा रहता
ये नन्हा मुन्ना बच्चा
सारा दिन तरसा करता

इक दिन बोलीं टीचर जी
पानी दुश्मन बिजली का
बाथरूम में थे उस दिन
जब मेरे प्यारे पापा
मैं कपड़े की इक पट्टी
गीली कर के ले आया

लैपटॉप गीला क्यूँ है
मुझसे पूछें पापा जी
गर्म हुआ इसका माथा
बर्फ़ीली पट्टी रख दी
अब क्या करते बेचारे
बोले तुमने हद कर दी

लेकिन समझदार पापा
समझ गए सब जल्दी ही
बोले बेटे जान गया
मैं तेरी हरकत सारी
और इस तरह दूर हुई
लैपटॉप की बीमारी

2 टिप्‍पणियां:

  1. लैपटॉप की बीमारी सही में बहुत बुरी हैं. परिवार के साथ होकर भी हम उनके साथ नहीं होते.

    उत्तर देंहटाएं

जो मन में आ रहा है कह डालिए।