सोमवार, 28 नवंबर 2011

कविता : फल और डाल

जब से
फलों से लदी हुई डालियों ने
झुकने से मना कर दिया

फलों ने
झुकी हुई डालियों पर लदना शुरू कर दिया

अब कहावत बदल चुकी है
आजकल जो डाल
जितना ज्यादा झुकती है
वो उतना ही ज्यादा फलती है

1 टिप्पणी:

जो मन में आ रहा है कह डालिए।