रविवार, 17 अक्तूबर 2010

अन्धविश्वास

अन्धविश्वास का पिता है,
डर;

डर की जनक हैं
सृष्टि में फैली
अनिश्चितताएँ;

अनिश्चितताओं का जन्मदाता है
ईश्वर;

इस तरह
यह सिद्ध होता है कि
ईश्वर
अन्धविश्वास का
प्रपितामह है।

3 टिप्‍पणियां:

  1. कमाल है। बहुत अच्छी प्रस्तुति।
    सर्वस्वरूपे सर्वेशे सर्वशक्तिसमन्विते।
    भयेभ्यस्त्राहि नो देवि दुर्गे देवि नमोsस्तु ते॥
    विजयादशमी के पावन अवसर पर आपको और आपके परिवार के सभी सदस्यों को हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई!

    काव्यशास्त्र

    उत्तर देंहटाएं
  2. सच है! बहुत अच्छी प्रस्तुति। राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।
    बेटी .......प्यारी सी धुन

    उत्तर देंहटाएं

जो मन में आ रहा है कह डालिए।